आरओ का पानी पीना बन सकता है मौत का कारण

asd

आरओ का पानी पीने के नुकसान :- दोस्तों क्या आप जानते हैं के बोतलबंद पानी पीने से या RO का फिल्टर किया हुआ पानी पीने से आपके शरीर को कितना भयंकर नुकसान हो सकता है इस पोस्ट में हम आपको यही बताने जा रहे हैं, के पेकिंग वाला बोतलबंद पानी पीने से शरीर को किस हद तक नुकसान हो सकता है यहां तक कि यह आपकी मौत का कारण भी बन सकता है नीचे दी गई पूरी पोस्ट पढ़ें और जनहित में दी गई इस जानकारी को अपने दोस्तों के बीच Facebook पर जरूर शेयर करें.

जिनके घरों में RO की मशीन लगी रहती है वह लोग बड़ी शान के साथ बोलते हैं फलानि कंपनी का आरओ लगवाया है पर यह नहीं जानते के दिखावे के चक्कर में असल में हमने अपने बीमार बनने का सामान अपने घर में लगा दिया है. लंबे समय तक इसका उपयोग करना वास्तव में नुकसानदायक साबित हो सकता है इसलिए जहां तक संभव हो क्लोरीन का इस्तेमाल करें जिससे पानी में उपस्थित लाभदायक बैक्टीरिया नष्ट नहीं होते और इसकी तुलना में ये काफी सुरक्षित होता है.

आरओ का पानी फिल्टर करने में पानी में उपस्थित जरूरी कैल्शियम और मैग्नीशियम 90% से 99% तक नष्ट हो जाते हैं इस तरह का पानी पीने से आपके शरीर में नुकसान होने की संभावना काफी बढ़ जाती है, यहाँ आपकी जानकारी के लिए बता दें एशिया और यूरोप के कई देश आरओ पर पूर्ण रुप से प्रतिबंध लगा चुके हैं.

दोस्तों अगर आपको इस पोस्ट में दी गई आरओ का पानी वाली जानकारी सही लगती है तो कृपया करके अपने Facebook पर अपने दोस्तों के बीच इसे जरूर शेयर कर दें, जिससे कि यह जानकारी और भी लोगों तक पहुंच जाए और वे इससे बचें.

आरओ का पानी पीना सेहत के लिए नुकसानदायक (WHO)

दोस्तों आज का दौर ऐसा है कि दुनिया दिखावे में मरी जा रही है. हम जब भी सफर में या कहीं भी घर से बाहर निकलते हैं अपने साथ अपने लिए पानी की व्यवस्था करके नहीं चलते सोचते हैं के मार्केट से पैकिंग वाला बढ़िया पानी खरीद लेंगे, जबकि पहले पुराने समय में ऐसा होता था. हम जब भी सफर में कहीं जाते थे तो अपने घर से ही अपने लिए पानी की व्यवस्था करके चलते थे लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि यह विभिन्न कंपनियों द्वारा बेचा जाने वाला बोतलबंद पानी आपके शरीर को कितना नुकसान कर सकता है और इस बात को वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन (WHO) ने अपनी एक रिपोर्ट में खुलासा भी कर दिया है के फ़िल्टर किया हुआ या आरओ का पानी आपके स्वास्थ्य के लिए की दृष्टि से बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं है.

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *